ADVERTISEMENT

बेवफा शायरी हिंदी में Best Bewafa Shayari in Hindi [ 2020 ]

Bewafa Shayari : - हेलो दोस्तों अगर आप भी सर्च कर रहे हैं , बेहतरीन बेवफा शायरी हिंदी में  हिंदी में अपने दोस्तों के साथ शेयर करने के लिए , व्हात्सप्प और फेसबुक पर तो आप बिलकुल सही जगह हो । हम आपके लिए इस पोस्ट में बेहतरीन बेवफा शायरी का कलेक्शन लेकर आये हैं जो आपको बहुत पसंद आएगा आप लोग इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें ।

Bewafa Shayari in Hindi | बेवफा शायरी हिंदी में


Woh Mili Bhi To Kya Mili Ban Ke Bewafa Mili,
Itane To Mere Gunah Na The Jitni Mujhe Saja Milei.

वो मिली भी तो क्या मिली बन के बेवफा मिली,
इतने तो मेरे गुनाह ना थे जितनी मुझे सजा मिली।


Yun To Hai Sabkuch Mere Pas Bas Dva-E-Dil Nahi,
Door Vo Mujhse Hai Par Main Us Se Naraaj Nahin,
Maloom Hai Ab Bhi Mohabbat Karta Hai Vo Mujhse,
Vo Thoda Sa Jiddi Hai Lekin Bevafa Nahin.


यूँ है सबकुछ मेरे पास बस दवा-ए-दिल नही,
दूर वो मुझसे है पर मैं उस से नाराज नहीं,
मालूम है अब भी मोहब्बत करता है वो मुझसे,
वो थोड़ा सा जिद्दी है लेकिन बेवफा नहीं।

Bewafa Shayari in Hindi
Bewafa Shayari in Hindi 




Meri Nigahon Mein Bahne Wale Ye Aawara Sa Ashq,
Poochh Rahe Hai.. Palkon Se Teri Bewafai Ki Bajah.

मेरी निगाहों में बहने वाला ये आवारा से अश्क
पूछ रहे है पलकों से तेरी बेवफाई की वजह।

Kya Jano Tum Bewafai Ki Had Dosto,
Wo Hamse Ishq Seekhti Rahi Kisi Or Ke Liye.

क्या जानो तुम बेवफाई की हद दोस्तों,
वो हमसे इश्क सीखती रही किसी ओर के लिए।


Mat Rakh Hamse Wafa Ki Ummeed Ai Sanam,
Hamne Har Dam Bewafai Payi Hai,
Mat Dhoondh Hamare Jism Pe Jakhm Ke Nishan,
Hamne Har Chot Dil Pe Khaayi Hai.

मत रख हमसे वफा की उम्मीद ऐ सनम,
हमने हर दम बेवफाई पायी है,
मत ढूंढ हमारे जिस्म पे जख्म के निशान,
हमने हर चोट दिल पे खायी है।



Bahut Ajeeb Hain Ye Mohabbat Karne Wale,
Bewafai Karo To Rote Hain Aur Wafa Karo To Rulate Hain.

बहुत अजीब हैं ये मोहब्बत करने वाले,
बेवफाई करो तो रोते हैं और वफा करो तो रुलाते हैं।


Bahut Ajeeb Tha Wo Hizr Ka Aalam,
Ki Tujhe Alvida Bhi Na Kah Saka,
Teri Masoomiyat Mein Itna Fareb Tha
Ki Tujhe Bewafa Bhi Na Kah Saka.

बहुत अजीब था वो हिज्र का आलम,
कि तुझे अलविदा भी न कह सका,
तेरी मासूमियत में इतना फ़रेब था
कि तुझे बेवफ़ा भी न कह सका।


Rushwa Kyu Karte Ho Tum Ishq Ko, Ai Duniya Walo,
Mehboob Tumhara Bewafa Hai, To Ishq Ka Kya Gunah.

रुशवा क्यों करते हो तुम इश्क़ को, ए दुनिया वालो,
मेहबूब तुम्हारा बेवफा है, तो इश्क़ का क्या गनाह।

Bewafa Shayari in Hindi
Bewafa Shayari in Hindi 


Hamaari Tabiyat Bhi Na Jaan Sake Hame Behal Dekhkar,
Aur Ham Kuchh Na Bata Sake Unhen Khushahal Dekhkar.

हमारी तबियत भी न जान सके हमे बेहाल देखकर,
और हम कुछ न बता सके उन्हें खुशहाल देखकर।


Bewafai Se Jyada Kya Cheez Hogi,
Gam-E-Haalat Judai Se Badhkar Kya Hogi,
Jise Deni Ho Saza Umr Bhar Ke Liye,
Saza Tanhayi Se Badhkar Aur Kya Hogi.


बेवफ़ाई से ज्यादा क्या चीज होगी,
ग़म-ए-हालत जुदाई से बढ़कर क्या होगी,
जिसे देनी हो सज़ा उम्र भर के लिए,
सज़ा तन्हाई से बढ़कर और क्या होगी।



Sari Bhoolen Teri Maaf Ki, Sab Khataon Ko Teri Bhula Diya,
Gam Hai Ki Mere Pyar Ka Tune Bewafa Banke Sila Diya.

सारी भूलें तेरी माफ़ की, सब खताओं को तेरी भुला दिया,
गम है कि मेरे प्यार का तूने बेवफा बनके सिला दिया।


Mahboob Agar Bewafa Ho Ishq Agar Saccha Ho,
Mere Yaaron Kahani Kuchh Adhoori-Si Lagti Hai.


महबूब अगर बेवफा हो इश्क अगर सच्चा हो,
मेरे यारों कहानी कुछ अधूरी-सी लगती है।


Ye Khyal Bhi Achchha Hai Bafadaar Ho Tum,
Bewafa Ham Hain Ilazaam Bhi Kam Nahin.

ये ख्याल भी अच्छा है बफादार हो तुम,
बेवफा हम हैं इलज़ाम भी कम नहीं।


Diya Hai Jo Iljaam Tune Bewafa Sanam,
Meri Saaf Muhabbat Par,
Lagaye Baithe Hain Ise Apne Seene Se Ham,
Pyar Ki Nishani Samjhkar.

दिया है जो इलज़ाम तूने बेवफ़ा सनम,
मेरी साफ़ मुहब्बत पर,
लगाये बैठे हैं इसे अपने सीने से हम,
प्यार की निशानी समझकर।



Aise Kaise Bura Kah Doon Teri Bewafai Ko,
Yahi To Hai Jisne Mujhe Mashoor Kiya Hai.

ऐसे कैसे बुरा कह दूँ तेरी बेवफाई को,
यही तो है जिसने मुझे मशहूर किया है।


Dosto Aaj Peene Ke Liye Mana Mat Karna,
Aaj Kisi Bewapfa Ka Janamadin Hai.

दोस्तो आज पीने के लिये मना मत करना,
आज किसी बेवफा का जन्मदिन है।


Mat Ro Kisi Bewafa Ko Yaad Karke,
Wo Khush Hai Tujhe Yun Barbaad Karke.

मत रो किसी बेवफा को याद करके,
वो खुश है तुझे यूँ बर्बाद करके।


Hamdam Ta Umr Saath Chalte Hain,
Rahen To Bewafa Badlate Hain,
Aapka Chehra Hai Jab Se Mere Dil Mein,
Jaane Kyon Log Mere Dil Se Jalte Hain.

हमदम तो ता उम्र साथ चलते हैं,
राहें तो बेवफ़ा बदलते हैं,
आपका चेहरा है जब से मेरे दिल में,
जाने क्यों लोग मेरे दिल से जलते हैं।

Bewafa Shayari in Hindi
Bewafa Shayari in Hindi 


Yoon Naaraz Mat Hua Karo Hamse Itna Mere Sanam,
Badkismat Zaroor Hain Ham Magar Bewafa Nahin.

यूँ नाराज़ मत हुआ करो हमसे इतना मेरे सनम,
बदकिस्मत ज़रूर हैं हम मगर बेवफा नहीं।


Bewafa Tera Masoom Chehra Bhool Jane Ke Kaabil Nahi,
Hai Magar Tu Bahut Khubasoorat Dil Lagane Ke Kaabil Nahi.

बेवफा तेरा मासूम चेहरा भूल जाने के काबिल नही,
है मगर तू बहुत खुबसूरत दिल लगाने के काबिल नही।


Mera Pyar Sachcha Tha Isaliye Tujhe Sochta Hoon,
Teri Bewafai Sachchi Ho To Yaadon Mein Na Aana.

मेरा प्यार सच्चा था इसलिए तुझे सोचता हूँ,
तेरी बेवफाई सच्ची हो तो यादों में ना आना।



Ishq Me Doobi Hui Koyi Gazal Use Pasand Nahin,
Bewafai Ke Har Sher Pe wo Vaah-Vaah Karte Hain.

इश्क में डूबी हुई कोई ग़ज़ल उसे पसंद नहीं,
बेवफाई के हर शेर पे वो वाह-वाह करते हैं।


Tu Bhi Aaine Ki Tarah Bewafa Nikla,
Jo Samne Aaya Usi Ka Ho Gaya.

तू भी आईने की तरह बेवफा निकला,
जो सामने आया उसी का हो गया.

Jinki Shayariyo Mein Dard Hota Hai,
Wo Shayar Nahi Kisi Bewafa Ka Deewana Hota Hai.

जिनकी शायरियों में दर्द होता है
वो शायर नही किसी बेवफा का दीवाना होता है।


Very Sad Bewafa Shayari

Unhen Ehsaas Hua Hai Ishq Ka Hame Rulane Ke Baad,
Ab Ham Par Pyar Aaya Hai Door Chale Jaane Ke Baad,
Kya Bataen Kis Kadar Bewafa Hai Yeh Duniya,
Yahan Log Bhool Jaate Hain Kisi Ko Dafanane Ke Baad.

उन्हें एहसास हुआ है इश्क़ का हमें रुलाने के बाद,
अब हम पर प्यार आया है दूर चले जाने के बाद,
क्या बताएं किस कदर बेवफ़ा है यह दुनिया,
यहाँ लोग भूल जाते हैं किसी को दफनाने के बाद।



Ai Dost Kabhi Zikr-E-Judai Na Karna,
Mere Bharose Ko Rusva Na Karna,
Dil Mein Tere Koyi Aur Bas Jaaye To Bata Dena,
Mere Dil Mein Rahkar Bewafai Na Karna.

ऐ दोस्त कभी ज़िक्र-ए-जुदाई न करना,
मेरे भरोसे को रुस्वा न करना,
दिल में तेरे कोई और बस जाये तो बता देना,
मेरे दिल में रहकर बेवफाई न करना।


Bewafaon Ki Mahfil Lagegi Ai Dil-E-Jaana,
Aaj Zara Waqt Par Aana Mehmaan-E-Khaas Ho Tum.

बेवफ़ाओं की महफ़िल लगेगी ऐ दिल-ए-जाना,
आज ज़रा वक़्त पर आना मेहमान-ए-ख़ास हो तुम।

Kahan Se Laaun Wo Shabd Jo Teri Tareef Ke Qabil Ho,
Kahan Se Laaun Wo Chand Jisme Teri Khoobasurti Shamil Ho,
Ai Mere Bewafa Sanam Ek Baar Bata De Mujhko,
Kahan Se Laaun Wo Kismat Jismen Tu Bas Mujhe Hansil Ho.

कहाँ से लाऊं वो शब्द जो तेरी तारीफ के क़ाबिल हो,
कहाँ से लाऊं वो चाँद जिसमें तेरी ख़ूबसूरती शामिल हो,
ए मेरे बेवफा सनम एक बार बता दे मुझकों,
कहाँ से लाऊं वो किस्मत जिसमें तू बस मुझे हांसिल हो।

Kaash Ki Ham Unke Dil Pe Raaz Karte,
Jo Kal Tha Wahi Pyar Aaj Karte,
Hamen Gam Nahin Unki Bewahai Ka,
Bas Araman Tha Ki...
Ham Bhi Apne Pyar Par Naaz Karte.

काश कि हम उनके दिल पे राज़ करते,
जो कल था वही प्यार आज करते,
हमें ग़म नहीं उनकी बेवफाई का,
बस अरमां था कि...
हम भी अपने प्यार पर नाज़ करते।


Bikhre Huye Dil Ne Bhi Uske Liye Fariyaad Mangi,
Meri Sanson Ne Bhi Har Pal Usaki Khushi Maangi,
Jaane Kya Mohabbat Thi Us Bewafa Mein,
Ki Maine Aakhiri Fariyaad Mein Bhi Unki Wafa Maangi.

बिखरे हुए दिल ने भी उसके लिए फरियाद मांगी,
मेरी साँसों ने भी हर पल उसकी ख़ुशी मांगी,
जाने क्या मोहब्बत थी उस बेवफ़ा में,
कि मैंने आखिरी फरियाद में भी उनकी वफ़ा मांगी।


Jo Bhi Mila Wo Ham Se Khafa Mila,
Dekho Dosti Ka Kya Sila Mila,
Umr Bhar Rahi Faqat Wafa Ki Talash,
Par Har Shakhs Mujhko Bewafa Mila.


जो भी मिला वो हम से खफा मिला,
देखो दोस्ती का क्या सिला मिला,
उम्र भर रही फ़क़त वफ़ा की तलाश,
पर हर शख्स मुझको बेवफ़ा मिला।


Bewafai Ka Mujhe... Jab Bhi Khayaal Aata Hai,
Ashq Rukhsaar Par Aankhon Se Nikal Jate Hain.

बेवफ़ाई का मुझे... जब भी ख़याल आता है,
अश्क़ रुख़सार पर आँखों से निकल जाते हैं।


Pyar Kiya Tha To Pyar Ka Anjam Kahan Maaloom Tha
Wafa Ke Badle Milegi Bewafai Kahan Maalum Tha,
Socha Tha Tair Ke Par Kar Lenge Pyar Ke Dariya Ko
Par Beech Dariya Mil Jayega Bhanvar Kahan Malum Tha.


प्यार किया था तो प्यार का अंजाम कहाँ मालूम था,
वफ़ा के बदले मिलेगी बेवफाई कहाँ मालूम था,
सोचा था तैर के पार कर लेंगे प्यार के दरिया को,
पर बीच दरिया मिल जायेगा भंवर कहाँ मालूम था।


Wo Khuda Tha Mera Ab Mera Eemaan Hai,
Chala Gaya Chhod Kar Isaliye Dil Udaas Hai,
Bewafa Nahi Kahunga Main Usko,
Kyuki Ishq Karna Uska Mujh Par Ahasan Hai.

वो खुदा था मेरा अब मेरा ईमान है,
चला गया छोड़ कर इसलिए दिल उदास है,
बेवफा नही कहूंगा मैं उसको,
क्यूंकी इश्क़ करना उसका मुझ पर अहसान है।



Uski Yaad Mein Ham Barson Rote Rahe,
Bewafa Wo Nikle Badnaam Ham Hote Rahe,
Pyar Mein Madhoshi Ka Aalam To Dekhiye,
Dhool Chehare Par Thi Aur Ham Aaina Saaf Karte Rahe.

उसकी याद में हम बरसों रोते रहे,
बेवफ़ा वो निकले बदनाम हम होते रहे,
प्यार में मदहोशी का आलम तो देखिये,
धूल चेहरे पर थी और हम आईना साफ़ करते रहे।


Gunaah Karke Saza Se Darte Hain,
Pee Ke Zahar Dava Se Darte Hain,
Dushmano Ke Sitam Ka Khauf Nahi Hamko,
Ham To Doston Ki Bewafai Se Darte Hain.

गुनाह करके सज़ा से डरते हैं,
पी के ज़हर दवा से डरते हैं,
दुश्मनों के सितम का खौफ नहीं हमको,
हम तो दोस्तों की बेवफाई से डरते हैं।


Sikha Di Bewafai Karna Zaalim Zamaane Ne Tumhe,
Tum Jo Bhi Seekh Jaate Ho Ham Par Hi Aajmaate Ho

सिखा दी बेवफ़ाई करना ज़ालिम ज़माने ने तुम्हे,
तुम जो भी सीख जाते हो हम पर ही आजमाते हो।


Toote Huye Dil Ne Bhi Uske Liye Dua Mangi,
Meri Sanson Ne Har Pal Uski Khushi Maangi,
Na Jaane Kaisi Dillagi Thi Us Bewafa Se,
Ke Maine Aakhiri Khwaahish Mein Bhi Usk Wafa Mangi.

टूटे हुए दिल ने भी उसके लिए दुआ मांगी,
मेरी साँसों ने हर पल उसकी ख़ुशी मांगी,
न जाने कैसी दिल्लगी थी उस बेवफा से,
के मैंने आखिरी ख्वाहिश में भी उसकी वफ़ा मांगी।


Haseeno Ne Haseen Bankar Gunah Kiya,
Auro Ko To Kya Hamako Bhi Tabah Kiya,
Pesh Kiya Jab Gazlon Mein Hamne Unki Bewafai Ko,
Auron Ne To Kya Unhone Bhi Waah Waah Kiya.

हसीनों ने हसीन बन कर गुनाह किया,
औरों को तो क्या हमको भी तबाह किया,
पेश किया जब ग़ज़लों में हमने उनकी बेवफाई को,
औरों ने तो क्या उन्होंने भी वाह वाह किया।


Bewafa Se Kabhi Pyar Nahin Hota,
Marne Ke Baad Intazaar Nahin Hota,
Dosti Dekh Kar Karna Mere Dost,
Har Dost Bafadaar Nahin Hota.

बेवफ़ा से कभी प्यार नहीं होता,
मरने के बाद इंतज़ार नहीं होता,
दोस्ती देख कर करना मेरे दोस्त,
हर दोस्त वफ़ादार नहीं होता।


Teri Bewafai Ne Mera Ye Haal Kar Diya Hai,
Main Nahin Roti Log Mujhe Dekh Kar Rote Hain.

तेरी बेवफाई ने मेरा ये हाल कर दिया है,
मैं नहीं रोती लोग मुझे देख कर रोते हैं।



Barbaad Kar Gaye Wo Zindagi Pyar Ke Naam Se,
Bewafai Hi Mili Hamen Sirf Wafa Ke Naam Se,
Zakhm Hi Zakhm Diye Usne Dava Ke Naam Se,
Aasman Bhi Ro Pada Meri Mohabbat Ke Anjaam Se.

बर्बाद कर गए वो ज़िंदगी प्यार के नाम से,
बेवफाई ही मिली हमें सिर्फ वफ़ा के नाम से,
ज़ख़्म ही ज़ख़्म दिए उसने दवा के नाम से,
आसमान भी रो पड़ा मेरी मोहब्बत के अंजाम से


Wafa Ke Naam Se Wo Anajaan The,
Kisi Ki Bewaphai Se Shayad Pareshaan The,
Hamane Wafa Deni Chahi To Pata Chala,
Ham Khud Bewafa Ke Naam Se Badanam The.

वफ़ा के नाम से वो अनजान थे,
किसी की बेवफाई से शायद परेशान थे,
हमने वफ़ा देनी चाही तो पता चला,
हम खुद बेवफा के नाम से बदनाम थे।


Jab Tak Na Lage Bewafai Ki Thokar,
Har Kisi Ko Apni Pasand Par Naaz Hota Hai.

जब तक न लगे बेवफाई की ठोकर,
हर किसी को अपनी पसंद पर नाज़ होता है।

Ye Shayari Ki Mahfil Bani Hai Aashiqon Ke Liye,
Bewafaon Ki Kya Aukaat Jo Shabdon Ko Tol Sake.

ये शायरी की महफ़िल बनी है आशिकों के लिये,
बेवफाओं की क्या औकात जो शब्दों को तोल सके।


Aaj Hum Unhe Bewafa Batakar Aaye Hain,
Unke Khaton Ko Paani Mein Bahakar Aaye Hain,
Koi Nikal Kar Paadh Na Le Unhe,
Isliye Paani Mein Bhi Aag Lagaker Aaye Hain.

आज हम उनको बेवफा बताकर आए हैं,
उनके खतो को पानी में बहाकर आए हैं,
कोई निकाल न ले उन्हें पानी से..
इस लिए पानी में भी आग लगा कर आए हैं।


Gahrayi Pyar Mein Ho To Bewafai Nahin Hoti,
Sachche Pyar Mein Kahin Tanhayi Nahin Hoti,
Magar Pyar Zara Sambhal Kar Karna Mere Dost,
Pyar Ke Zakhm Ki Koyi Dava Nahin Hoti.

गहराई प्यार में हो तो बेवफाई नहीं होती,
सच्चे प्यार में कहीं तन्हाई नहीं होती,
मगर प्यार ज़रा संभल कर करना मेरे दोस्त,
प्यार के ज़ख्म की कोई दवा नहीं होती।

Bewafa Shayari in Hindi
Bewafa Shayari in Hindi 


Ye Bewafa Sanam Wafa Ki Keemat Kya Jaane,
Hai Bewafa Gam-Ai Mohabbat Kya Jaane,
Jinhe Milta Hai Har Mod Par Naya Hamsafar,
Wo Bhala Pyar Ki Keemat Kya Jaane.


ये बेवफा सनम वफा की कीमत क्या जाने
है बेवफा गम-ऐ मोहब्बत क्या जाने,
जिन्हे मिलता है हर मोड़ पर नया हमसफर,
वो भला प्यार की कीमत क्या जाने।


Wo To Apne Dard Ro-Ro Ke Sunate Rahe,
Hamari Tanhaiyon Se Aankh Churate Rahe,
Aur Hamen Bewafa Ka Naam Mila Kyonki,
Ham Har Dard Muskura Kar Chhupate Rahe.

वो तो अपने दर्द रो-रो के सुनाते रहे,
हमारी तन्हाइयों से आँख चुराते रहे,
और हमें बेवफा का नाम मिला क्योंकि,
हम हर दर्द मुस्कुरा कर छुपाते रहे।



Pyar Kisi Ko Karoge Ruswayi Hi Milegi,
Wafa Kar Lo Chahe Jitni Bewafai Hi Milegi,
Jitana Marji Kisi Ko Apna Bana Lo,
Jab Aankh Khulegi Tanhayi Hi Milegi.

प्यार किसी को करोगे रुस्वाई ही मिलेगी,
वफ़ा कर लो चाहे जितनी बेवफाई ही मिलेगी,
जितना मर्जी किसी को अपना बना लो,
जब आँख खुलेगी तन्हाई ही मिलेगी।


Aansuo Tale Mere Saare Araman Bah Gaye,
Jinse Ummeed Lagaye The Wahi Bewafa Ho Gaye,
Thi Hame Jin Chiraago Se Ujale Ki Chaah,
Wo Chirag Na Jane Kin Andhero Mein Kho Gaye.

आंसुओ तले मेरे सारे अरमान बह गये,
जिनसे उम्मीद लगाए थे वही बेवफा हो गये,
थी हमे जिन चिरागो से उजाले की चाह,
वो चिराग ना जाने किन अंधेरो में खो गये।



Ham To Tere Dil Ki Mahafil Sajaane Aaye The,
Teri Kasam Tujhe Apna Banane Aaye The,
Kis Baat Ki Saja Di Tune Hamko Bewafa,
Ham To Tere Dard Ko Apna Banane Aaye The.

हम तो तेरे दिल की महफ़िल सजाने आए थे,
तेरी कसम तुझे अपना बनाने आए थे,
किस बात की सजा दी तुने हमको बेवफा,
हम तो तेरे दर्द को अपना बनाने आए थे।



Tu Bewafa Hai Teri Bewafai Mein Dil Bekarar Hi Na Karun,
Tu Hukm De To Tera Intezaar Hi Na Karun,
Tu Bewafa Hai To Kuchh Is Kadar Bewafai Kar,
Ki Tere Baad Main Kisi Aur Se Pyar Hi Na Karun.

तू बेवफा है तेरी बेवफ़ाई में दिल बेकरार ही ना करूँ,
तू हुक्म दे तो तेरा इंतेज़ार ही ना करूँ,
तू बेवफा है तो कुछ इस कदर बेवफ़ाई कर,
कि तेरे बाद मैं किसी और से प्यार ही ना करूँ।





Post a Comment

0 Comments